Archive for अप्रैल, 2007

भुक्खड़ हैं ये सांसद

अप्रैल 21, 2007

पैसा, पैसा और पैसा । इनके लिए पैसा ही सब कुछ है । कुर्सी की खींचतान भी पैसे के लिए । सवाल पूछ सकते हैं । धार्मिक उन्माद फैला सकते हैं । कबूतरबाजी में शामिल हो जाते हैं । यहां तक कि पैसे (तनख्वाह) के लिए संसद में कानून तक बदल डालते हैं।

यह जरूर मानता हूं कि सब के सब ऐसे नहीं हैं लेकिन इसकी संख्या बढ़ रही है । हर घटना एक नया खुलासा करती है । पैसों के लिए, हर सरकार में ऐसी घटनाएं होती रहती हैं । इनके लिए एक सूत्र है- बाप बड़ा ना भैया, सबसे बड़ा रुपैया ।

चार पंक्तियां याद आ रही है-
टका जगत का सार है
देत सुख विशेष
जाके पास टका नहीं
बैठ टका-टक देख ॥

क्या इसी को जानकर सांसद ऐसे काम कर रहें हैं ? क्या इनका कोई दायित्व नहीं है ? हमारे देश में हर साल एक नया घोटाला सामने आता है । चावल घोटाला, तेल घोटाला, जमीन घोटाला…यहां तक कि कफन को लेकर भी इन नेताओं ने घोटाला कर दिया ।

कैमरे के सामने कई नेता घूस लेते पकड़े गए । कुछ नामों पर गौर करें और सोचे क्या इन्हें भी पैसों की इतनी जरूरत होगी कि यह घूस लें । जया जेटली, बंगारू लक्ष्मण, जूदेव । बीबीसी की यह रिपोर्ट आपको कुछ और नामों को बताएगी ।

सामान्य विद्यार्थी से नेता और नेता से मैनेजमेंट गुरु बने लालू यादव पर चारा घोटाला, देश की छवि बदलने वाली नीति लाने वाले स्वर्गीय पीवी नरसिंह राव पर झामुमो घूस कांड और ना जाने ऐसे कितने कांड और घोटाले है । इन नेताओं पर आरोप लगते रहे हैं लेकिन आरोप साबित होना यह तो दूर की बात ।

इनके हाव-भाव और बयान इन सब के बाद तो बस पूछिए मत.. लालू जेल जाने के बाद कहते हैं कि कृष्ण का जन्म ही जेल में हुआ था । जूदेव पर आरोप लगने के बाद वह अपनी मूछों पर थोड़ा और ताव देते दिखाई पड़ते हैं ।

देश को आगे ले जाने के लिए युवाओं को आना होगा, इस संकल्प के साथ कि देश को एक नई दशा-दिशा दें । विश्व फलक पर भारत का नाम रोशन करने के लिए पहल करना होगा।

सर दर्द की गोली की बिक्री बढ़ गई

अप्रैल 20, 2007

मेहंदी जयपुर से । मेहंदी को लपेटने के लिए कागज इलाहाबाद से । मेहंदी को लगाने वाला भोपाल से आया है । बारातियों को ले जाने वाली वोल्वो बस की एसी खराब हो गई । मेकअप उतर गया । अब अंबानी पहुंचे । और अब शेट्टी अपनी लंबी गाड़ी में आए हैं ।

पता नहीं क्या-क्या बताया । सर दर्द हो गया । क्या यह सब भी बताने की चीज है ।
प्राइम टाइम हो या अखबार का पहला पन्ना सब पर अमिताभ के बेटे और वधू की खबरें । यह शादी अभिषेक और ऐश्वर्य की है लेकिन मीडिया में इतना हाइप अमिताभ बच्चन की वहज से है ।

टीवी वालों की खबरों के दबाव में अखबार वालों की खबरें भी बदल गई । जमाना इंफोटेंमेंट का है । लेकिन ऐसी दशा-दिशा ।

आप किसी से पूछ लें सब इतने ज्यादा कवरेज से परेशान है । हर गली-नुक्कड़ में यही चर्चा है । मीडिया को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी ।

वाह-वाह, क्या कार्टून है !!

अप्रैल 19, 2007

Babubhai katara

ये ना तो बाबू हैं ना ही भाई । ये हैं बाबूभाई उर्फ कबूतरबाज । क्यों सही कहा ना ।

Image source: Hindustan 20, April 2007

‘मनी’ और ‘मणि’ ने एशियाड से दूर किया

अप्रैल 18, 2007

सुरेश कलमाड़ी यही दोहरा रहे हैं । बकौल कलमाड़ी, मणिशंकर अय्यर जीते, दिल्ली हारी । दिल्ली को 2014 में होने वाले एशियाड खेलों की मेजबानी नहीं मिली । मैं इस बारे में बहुत कुछ नहीं जानता। इतना समझ पा रहा हूं कि दिल्ली के साथ खेल प्रेमियों व खिलाड़ियों की भी हार हुई है । लोगों के भी अलग-अलग विचार हैं । बीबीसी के फोरम पर लोगों के कुछ राय

इसी पर कुछ इंटरनेट समाचार संस्करण के लगाए गए शीर्षक । यहां देखे
खेल मंत्री मणिशंकर अय्यर व भारतीय ओलंपिक संगठन के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी के बीच यह खींचतान भारत के लिए नुकसान दायक है । कलमाड़ी का कहना है कि हमारे सरकार खेल पर पैसा नहीं खर्च करना चाहती है ।

इससे पहले अय्यर कह चुके हैं कि खेल आयोजनों पर बड़ी रकम खर्च करने से पहले खेलों के आधारभूत ढांचे को विकसित करना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए।

खेल को लेकर हमारे लिए सबसे बड़ी बात है कि 2010 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी हम सही से करें । हम भारतवासियों की ओर एशियाड की मेजबानी जीतने वाले दक्षिण कोरिया के इंच्योन शहर को ढेरों बधाईयां ।

‘मनी’ और ‘मणि’ ने एशियाड से दूर किया

अप्रैल 18, 2007

सुरेश कलमाड़ी यही दोहरा रहे हैं । बकौल कलमाड़ी, मणिशंकर अय्यर जीते, दिल्ली हारी । दिल्ली को 2014 में होने वाले एशियाड खेलों की मेजबानी नहीं मिली । मैं इस बारे में बहुत कुछ नहीं जानता। इतना समझ पा रहा हूं कि दिल्ली के साथ खेल प्रेमियों व खिलाड़ियों की भी हार हुई है । लोगों के भी अलग-अलग विचार हैं । बीबीसी के फोरम पर लोगों के कुछ राय

इसी पर कुछ इंटरनेट समाचार संस्करण के लगाए गए शीर्षक । यहां देखे
खेल मंत्री मणिशंकर अय्यर व भारतीय ओलंपिक संगठन के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी के बीच यह खींचतान भारत के लिए नुकसान दायक है । कलमाड़ी का कहना है कि हमारे सरकार खेल पर पैसा नहीं खर्च करना चाहती है ।

इससे पहले अय्यर कह चुके हैं कि खेल आयोजनों पर बड़ी रकम खर्च करने से पहले खेलों के आधारभूत ढांचे को विकसित करना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए।

खेल को लेकर हमारे लिए सबसे बड़ी बात है कि 2010 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी हम सही से करें । हम भारतवासियों की ओर एशियाड की मेजबानी जीतने वाले दक्षिण कोरिया के इंच्योन शहर को ढेरों बधाईयां ।

वजीर्निया हत्याकांड व अर्थशास्त्र

अप्रैल 17, 2007

देश तरक्की कर रहा है। और करेगा। लेकिन इसके साथ ऐसी घटनाएं होती रहेंगी। लोग पैसा और नाम के पीछे अंधी दौड़ लगा रहे हैं। दूसरा पहले से आगे निकलना चाहता है। पता नहीं कौन-कौन से तरीके लोग अपना रहे हैं। सोमवार को वजीर्निया में कोरियन मूल के एक लड़के ने पहले 33 लोगों की जान ले ली।

1999 के आंकड़ों के अनुसार कुल 21 करोड़ लोगों के पास अपनी बंदूक थी। आज अमेरिका की जनसंख्या तीस करोड़ पंद्रह लाख से कुछ ज्यादा है। अमेरिकी कानून के मुताबिक अगर आप वोट दे सकते हैं तो आप बंदूक भी खरीद सकते हैं।
मैंने इंटरनेट में हथियारों से हुई आय को ढूंढना चाहा लेकिन मिला नहीं। खैर यह कारोबार अमेरिका में अरबों में होगा।

बात करते हैं वजीर्निया हत्याकांड की तो मैं यह बता दूं कि जिस छात्र पर इसका आरोप लगा है उसके नाम के डोमेन को अमेरिका के ही किसी शख्स ने बुक करा लिया है। यह बात दीगर है कि उसका उपयोग वह वजीर्निया एकेडेमी के लिए ही कर रहा है।

यह है वजीर्निया हत्याकांड का अर्थशास्त्र

Samaj ke thekedaro ki list badh rahi hai

अप्रैल 16, 2007

Virodh pardrshan, demonstration

Har koi thekedaar hi banana chahta hai. List badh bhi rahi hai. Ye morcha, wo sanghatan. Tumne ye kaise kaha. Dharana pardarshan hoga. lekin ab lathi dande tak aa gai hai. Star News ke mumbai office mein Hindu Rashtra Sena ke kuch logo ne hamla kar diya.

Ye log bhi samaj ke thekhedar hi hain. Nai entry hai so kuch karna chahte the. Kuch na sujha hoga to hamla kar diya. Inka kahna hai ki channel ne do alag-alag dharmo ke ladke-ladkiyo ko ek saath dikhaya aur unke paksh mein reporting ki.Wo dono ek dusre se pyaar karte hai.

Isse pahle sindhi samaj ne bhi apne samaj ki ladkiyo par dher saare bandise laga di thi. Mamla bhi yahi tha. Sindhi samaj ki ek ladki ne Muslim dharam ke ek ladke se shaadi racha li thi.

Bhaarat mein thekedaro ke list mein kanpur, indor, ranchi, bhopal ke kai chatra sangathan, kai samaj sanghtan saamil hona chahte hain. Inke dharna, Putla phukna, Hai-Hai karna aap hamare news channelo par dekhte hi honge.

Sabhi ek baat kah dete hain Loktantra mein sabko apni baat kahne ka hak hai.

Kya yahi hai loktantra?

Rahul baba jara videsh niti padh lo

अप्रैल 15, 2007

Rahul Gandhi 

Inke dada ne panchsheel sidhhant ki niv rakhee thi. Aur pota kabhi kuch to kabhi kuch bol raha hai.

Kal (14/04/2007) bareli mein ek sabha ko sambhodhit karte hue Rahul Gandhi ne kaha ki हमारा (गांधी) परिवार कोई काम करने की ठान लेता है तो उसे पूरा करता है. पहले भी गांधी परिवार के सदस्यों ने उन लक्ष्यों को हासिल किया है जो उन्होंने तय किए थे, जैसे भारत की आज़ादी, पाकिस्तान को तोड़ना और देश को 21वीं सदी तक ले जाना.”

Bhaarat ki videsh niti mein kisi desh ko todna shaamil nahi hai. Lekin ye Rahul Gandhi kuch jayada hi bol gaye.

Inhe Gut nirpeksh Aandolan to jaroor padhna chahiye.

Report on Dainik Jagran

Who is Uma Bharti?

अप्रैल 14, 2007

Tasweere bolti hain, Ye to suna hoga kya cartoons bhi bolte hain. Pata hai. Is cartoon ko dekhiye kuch sunai dega ki kaun hain UMA BHARTI.

Uma Bharti

Image: Hindustan. 14 April 07

News channel walo ka maansik diwaliyapan!!!

अप्रैल 13, 2007

Pahle ye video dekh lijiye. Aap bhule nahi honege is video ko. Ye hamare bhartiya news channelo ka kala chehra pesh karti hai.

1> Star news par Ash-Abhishek ki shadi ke nyote par 30 min ka special report.

2> “Main Dar Gaya Tha” 30 min report on Aaj tak regarding Greg Chapell interview.

3> “Kaha gaya Ankit” Special report on Star News and Zee news.

4> Umar-Priyanka ki shadi par Zee News ka report and live chat. uske baad repeat telecast.

5> Har roj dikhai jane wali NDTV India par Khabro ki khabar. Jisme khabar par bahas kam cricket par jayada hoti hai. (World cup se pahle bhi).

6> IBN7 ke to kya kahne. Iska naam hona chahiye sansani7. Choti se choti Khabar ke batane ka treatment aisa hota hai mano Al-Qeda ne delhi mein koi blast kar diya ho. pecche se wo dhaddadta hua back ground music.

Ye kewal bangi hai. List lambi aur lambi ho sakti hai.

Is peshe se jude hone ke karan news to dekhta hi hu, lekin jayada nahi Ha in sab programs ko maine dekha hai. Sabhi mein bahas to hoti hai lekin koi sarthak nishkarsh nahi nikal pata.

Kya ye log hamesha sab kuch TRP ke liye karte rahenge? My own post

Aisa nahi hai ki hamare news channel par kuch achha nahi aata hai lekin usji bhari kami jaroor hai. Kuch acche program hain.

Witness, Walk the Talk, Bomabay Talkies, We the People on NDTV 24 7.
Khabardaar, Gustakhi Maaf, Yuva Sansad, Chote Sahar Bade Sapne on NDTV India.
10tak and Ravivaar on Aaj Tak
National Reporter, Satymev Jayate, Pol Khol and Insaaf ka Taraju on Star News
Sabash India and Badi Khabar on Zee News
Devil’s Advocate, World 360, India 360, Face the Nation on CNN IBN
Sorry to say mujhe IBN7 ka koi bhi program accha nahi lagta hai.

Media apne ko democracy ka 4th pillar kahta hai to waisi jimmedari bhi dikhani chahiye. Agar aap (News channel) bharat ko lekar jimmedar nahi banege to phir mujhe lagta hai ki Ministry of Inforamtion and Broadcasting aap par kadai karti hai to jayada galat bhi nahi karegi. So please thoda apne upar responsbilty lijiye. Kewal khabro ko dikhane ke liye mat dikhaye, Unki saarthkta siddh kijiye.

Mera apna maanana hai ki aap jo dikhate hain janta wahi dekhti hai na ki janta jo chahati hai wo aap dikhate hain.

Maine programs ke date, timings aur baki dusre paksho ko bhi dhayaan mein rakhte hue ye sab likha hai.

Ye mere personal views hain ho sakta hai ki koi padhne wala inse ittar vichar rakhe.

Thanks 🙂