अब तेरा क्या होगा बुश !!

by

Time Cover

शोले फिल्म का बड़ा मशहूर डायलोग है : अब तेरा क्या होगा रे कालिया !!  टाइम मैग्जीन ने इस साल 100 प्रभावशाली लोगो कि सूची जारी कर बुश पर लगभग यही डायलोग फीट करवा दियावैसे ध्यान देने वाली बात है की बुश प्रशाशन की ही कोंडोलीसा राईस का नाम लगातार चौथी बार इसमे शामिल है

इराक युद्घ में घर से लेकर बाहर तक अपनी बदनामी करवा चुके जॉर्ज बुश ऐसे कई छोटे बडे लिस्ट ठेंगा दिखा रहे हैं

ये लिस्ट टाइम मैग्जीन पूरे विश्व भर के 100 प्रभावशाली लोगो के लिए होता हैइस लिस्ट में अमेरिका का दुश्मननंबर वन अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन भी शामिल हैशावेज बुश को अमेरिकी धरती पर ही सबसे बड़ा शैतान कह देते हैं ।  जब मैंने टाइम की आधिकारिक वेबसाइट देखी तो वहा पर कई लोगो ने इसपर कमेंट दिया है की कही पत्रिका एंटी बुश एजेंडा तो नही चला रहा है । लोगो ने तो टिम के निस्पक्षता पर ही सवाल उठा दिए हैंएक पाठक लिखता है की अब मैं टाइम मैग्जीन नही खरीदूंगा । 

एक ने लिखा है की मेरे राष्ट्रपति चाहे जैसे भी हो उन्हें फ़ाइनल १०० में जरूर होना चाहिएबुश को लेकर लोगो ने अपनी खूब सारे कमेंट लिखे हैंकई को पढने के बाद मुझे ये लग रहा है की कही अमेरिकी लोग भावनावो में तो सारे कमेंट नही लिख रहे हैं

आज एक खबर आई है की ईरानी मिसाईल अगले 8 सालो में अमेरिका को अपनी ज़द में ले लेंगेदैनिक जागरण की रिपोर्ट

मेरी अपनी राय तो यही कहती है की बुश के दिन लद जरूर रहे हैं लेकिन स्थिति इतनी बुरी नही है की उन्हें अन्तिम १०० में जगह ना मिलेखैर ये तो वक़्त (TIME) की मर्जी है

इस लिस्ट में भारत की सोनिया गाँधी, लक्ष्मी मित्तल और इंदिरा नूयी शामिल है

4 Responses to “अब तेरा क्या होगा बुश !!”

  1. संजय बेंगाणी Says:

    बुस का शामिल न होना पब्लिशिटी स्टंट लगता है. बुस नीजि तौर पर जो भी हो, है तो सबसे ताकतवर देश के राष्ट्रपति. ऐसे में 100 लोगो में उनका न होना गले नहीं उतर रहा.

  2. अनुराग मिश्र Says:

    मेरी सभी ब्लॉगर बंधुओं से हाथजोड़ कर यह विनती है कि वे “justify” ना करें। पढ़ना कष्टप्रद हो जाता है।

  3. Rajesh Roshan Says:

    Anurag ji मैं आपकी बात समझ नही पाया आप “justify” word से क्या कहना चाहते हैं । आपनी राय नही देने को ही शायद आप justification कह रहे हैं अगर ये है तो मैं ये बता दु कि ब्लोग में लोग अपनी राय नही देंगे तो क्या लिखेंगे ।

  4. नितिन बागला Says:

    राजेश, अनुराग Justification या राय वाला justify नही कह रह हैं, बल्कि जब आप पोस्ट लिखते हैं तो editor में एक option होता है, जिससे आपके लेख की सब लाइने एक बराबर हो जाती हैं….ऐसा करने से फायर फाक्स वेब ब्राउजर में आपकी पोस्ट फैली हुई दिखाई देती है, अक्षर साफ नही दिखाई देते और पढने में तकलीफ होती है…अतः पोस्ट को लेफ्ट जस्टीफाई ही रहने दिया करें

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: