नई खोज: विवाद में शामिल हो जाइए और हिट पाइए

by

आप नए ब्लागर हैं? आपके ब्लाग की हिट कम है? फेमस होना चाहते हैं? कोई बात नहीं मैंने एक नई खोज की है। शर्तिया है। कुछ so called (तथा कथित) मशहूर ब्लागरों के लफड़े में फंस जाएं। और उनके नाम से एक पोस्ट लिख दें। बस!!! हो गया काम। आप देखिए आपके ब्लाग को खूब सारी हिट मिलेंगी।

एक और तरकीब है। राजनीति के दो विरोधी गुटों के बारे में लिखना शुरू कीजिए। राइटिस्ट व मोरल पुलिसिंग को खूब भला-बुरा कहिए। कोई ना कोई आपको काउंटर जरूर करेगा। ना हो तो उनका सपोर्ट करिए। क्योंकि आपका उद्देश्य विचार रखना नहीं है। आपका उद्देश्य सस्ती लोकप्रियता और हिट पाना है। लोगों को अशांत कर दीजिए। आपके ब्लाग को हिट ही हिट मिलेंगे।
ऐसे मुद्दों पर एकदम बात ना करें जो थोड़ी स्वस्थ बहसें हो सकती हैं। उन पर आपका ध्यान होना चाहिए जो विवाद को बढ़ावा दे।

मूल बात

हर चौथा हिंदी ब्लागर यही कर रहा है। माना कि ब्लाग में ब्लागर अपनी निजी, सामजिक और पसंद की बातों को लिख सकता है। लेकिन केवल लिखने के लिए ही ब्लाग लिखना.. ना भाई ना।
सुनीता नारायण को कोई नहीं जानता था लेकिन एक रिसर्च और उसके बाद रिपोर्ट ने उसे रातों-रात लोगों के जुबान पर ला दिया। मेहनत करें। और कुछ अच्छा लिखें। अच्छा ना लिखें, तो कम से कम विवाद तो ना फैलाएं। पहले नेता लोग अतिक्रमण करते थे अब हम ब्लागर करने लगे हैं। कितनी शर्म की बात है।

14 Responses to “नई खोज: विवाद में शामिल हो जाइए और हिट पाइए”

  1. अनूप शुक्ल Says:

    ये जुगाड़ तो आपसे बिना पूछे ही लोग अपनाना शुरू कर चुके हैं। दावा ठोंके जल्दी से!

  2. विशेष Says:

    अपनी बेहतरी के लिए प्रयास करने का सबको हक है

  3. arun Says:

    भाइ यहा सब से मशहूर दो ही लोग है और चार चमचे उनमे से किसी एक कॊ पढे आप खुद ब खुद लिखना शुरु कर देगे जरा देखिये नारद के लोकप्रियलेख सारे लेखो मे यहा उनका ही नाम मिलेगा

  4. अतुल शर्मा Says:

    आखिर आप भी समझ ही गए🙂

  5. संजय बेंगाणी Says:

    आप काहे इस में फस रहे हो. चलो कोई बात नहीं हिट तो मिली.

  6. राजलेख की हिंदी पत्रिका Says:

    यह एक अच्छी व्यंग्य रचना है, और यह बात मैं व्यंग्यकार के नाते कह
    रहा हूं-दीपक भारतदीप

  7. हरिराम Says:

    सिर्फ हिट पाने के लिए बेकार में लोगों से पंगा लेने की क्या जरूरत?

    हिट पाने के और भी तरीके है–
    अपने हिट काउण्टर को रोज 200 से 400 अंक आगे तक रिसेट कर दें या
    एक दो चार लाइन की .bat फाइल बनाएँ जो आपके ब्लॉग को लॉन ऑन करे और फिर एक्सिट कर दे। हर चार मिनट में यह स्वतः दोहराई जाए।

  8. जगदीश भाटिया Says:

    चिट्ठा हिट करने के 20 नुस्खे हमने यहां लिखे हैं
    http://aaina2.wordpress.com/2007/04/18/hit-your-blog/

  9. समीर लाल Says:

    सही है, हिट लिये रहो. शुभकामना.
    🙂

  10. divyabh Says:

    अभी-भी एक तत्व छोड़ दिया है लगता है कि या तो आप छुपा गये या तो अभी तक आपका ध्यान नहीं गया है…।वैसे सच्चा लेख है थोड़ा ध्यान देकर फिर रिसर्च करे नया पोस्ट लिखें…धन्यवाद!!

  11. bhomiyo Says:

    This may happen in the beginning as long as Blogging is not too famous among good writers. Once those people are in, all the cheap writers will be out of the way or will have to improve their skills.

  12. मनीष Says:

    भाई ,लोगों की बात छोड़ें ।आप वही करें जो आपका दिल कहे । और मेरा ये मानना है कि अगर आप में लिखने की क्षमता है तो देर सबेर आपकी लिखी हुई बात को लोग पढ़ना पसंद करेंगे ।

  13. Rajesh Roshan Says:

    Sanjay ji maine aaj tak koi bhi kaam isliye nahi kiya hai ki log mujhe achha kahe. Patrkaar bhi bana to isliye ki mujhe padhne likhne ka shauk tha. Mera is post ka likhne ka uddesya kewal itna tha ki log thoda healthy topic par bahas kare.

    Rajesh Roshan🙂

  14. kripal Says:

    Isn’t good its a power of internet we can right about anybody? We can right about president or prime minister if we think they are wrong and no one can stop. It was not possible before 10 years

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: