‘मेरा भारत परेशान’ से ‘मेरा भारत महान’ तक

by

भारत के आम नागरिकों की राय है यह। कोई भारत से परेशान है तो कोई भारत को महान कहता है। आम भारतीय वर्तमान में जीता है। इन्हें भूत और भविष्य से कोई मतलब नहीं। हड़ताल में यह परेशान होता है। और ज्यादा मजदूरी मिलने पर खुश हो जाता है।

आज का भारत 60 साल का नौजवान भारत है। इसकी रफ्तार से हर कोई अचंभित है। देशी विदेशी सभी इसके तारीफ कर रहे हैं। अमेरिका परमाणु समझौते को लेकर भारत से ज्यादा उत्सुक है।

टाइम ने अपने वर्तमान अंक में भारत की तारीफ की है। आजादी के 60 साल पूरे होने पर टाइम ने भारत पर विशेषांक प्रकाशित किया है। टाइम से पहले कई और विदेशी अखबारों और चैनलों ने भारत की ओर नजरें इनायत की हैं (इसे देख लें)

मेगास्थनीज, इब्नबतूता, फाहियान, ह्वेन स्वांग ने भारत की तारीफ में कसीदे पढ़े हैं। सभी भारत की ओर ही ताक रहें हैं। विकिपिडिया पर किसी देश के पेज को पढ़ने में अमेरिका के बाद भारत के पेज का नंबर है। भारत और भारत की चीजें आज विश्व भर में लोकप्रिय हो रहीं हैं। लंदन में पनीर टिक्का की बिक्री बर्गर के करीब-करीब है। विदेशी महिलाओं को साड़ी में काफी पसंद है।

आज से बीस साल पहले टाटा और बिड़ला भारत में भारत के सबसे बड़े ब्रांड एंबेस्डर थे। टाटा-बिड़ला सभी के जुबान पर थे। यही हाल आज पूरे विश्व का है। आईटी, स्टील, फिल्म और साहित्य में भारत का परचम अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन और खाड़ी देशों पर लहरा रहा है।

कोरस को खरीदने की भारी भरकम डील की खबर हो या अरुंधति राय व अनिता देसाई को बुकर पुरस्कार मिलने की खबर। हम आगे बढ़ रहे हैं। धीरे-धीरे। सपेरों के देश से अमीरों के देश बनने की कहानी भी दुनिया वाले आंखें फाड़-फाड़ कर देख और पढ़ रहे हैं। विदेशियों की रुचि पौराणिक योग में भी बढ़ी है।

क्रमश:

9 Responses to “‘मेरा भारत परेशान’ से ‘मेरा भारत महान’ तक”

  1. kripal Says:

    100 mein se 99 beimaan phir bhi mera bharat mahan🙂

  2. divyabh Says:

    नाज़ है मुझे अपने देश पर…।
    बहुत अच्छा लिखा है।

  3. paramjitbali Says:

    बहुत बढिया लिखा है\बधाई।

  4. malay Says:

    BADHIYA HAI JI!

  5. manoj soni satna Says:

    bilkul sach kah rahe hai aap

  6. neeraj singh bais Says:

    maine apka yah alekh padha . mujhe thik laga ? lekin aj hume apni tarif bahut achhi lagati hai hum apni kamiyo ko nahi dekhate . sirf dusare me burai nikalte hai .aj apani netayo ko bharst kah kar bat khatam kar dete hai . lekin hamane kabhi socha hai ki ye neta bahar se aye hai. ye neta hamare hai ese hamane chuna hai .hum khud bharst hai isliye hamari yah sari systam bharst hai
    to be cont…………..

  7. vishal Says:

    India is great country

  8. VIJITA SURANA Says:

    MAST HAI ESSAY PER AACHA NAHI HAI

  9. madiha Says:

    extremely delightful

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: